Mandsaur : ट्रैफिक नियम पालन नहीं करना पड़ेगा महंगा, यातायात पुलिस नए अंदाज में कर रही कार्रवाई

मंदसौर की यातायात पुलिस ने हाल ही में निबंध लेखन की कार्रवाई को लेकर अपने अनूठे तरीके को लेकर बड़ी सुर्खियों में आई है. उन्होंने ट्रैफिक नियमों का पालन न करने वालों के खिलाफ नया एक्शन शुरू किया है, जिसमें वे लोगों से निबंध लिखवाने का प्रयास कर रहे हैं. यह अद्वितीय पहलू से व्यापक प्रतिक्रिया प्राप्त कर रहा है और उन्हें जनता के बीच में अधिक जागरूकता पैदा करने में मदद मिल रही है.

यातायात पुलिस ने अनूठे तरीके से ट्रैफिक नियम का पालन नहीं करने वालों से नए अंदाज में निबंध लिखवाने का नया प्रयास किया है. इसके साथ ही, उन्होंने इन लोगों से यातायात नियम का पालन करने की अपील करते हुए नाश्ता करवाने का भी आयोजन किया है. जिले में दिन-प्रतिदिन हो रही सड़क दुर्घटनाओं के मामलों के मद्देनजर, यातायात पुलिस ने अपने अनोखे अंदाज में कार्रवाई की प्रक्रिया को बदल कर वाहन चालकों को एहतियात बरतने की सलाह दी है.

कुछ ऐसे होगी कार्रवाई
नियमों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ निबंध लेखन की कार्रवाई भी की जा रही है, जिससे कि उनकी सही समझ और खराब हेड राइटिंग को सुधारा जा सके. साथ ही, जो व्यक्ति भूख का बहाना बनाकर जल्दी बाहर निकलने का प्रयास कर रहे हैं, उन्हें नाश्ता करने का मौका भी प्रदान किया जा रहा है. इस प्रकार, मंदसौर यातायात पुलिस की ओर से सड़क सुरक्षा को बढ़ावा देने के लिए कदम उठाए जा रहे हैं और आम जनता को नियमों का पालन करने के लिए प्रेरित कर रहे हैं.

यह अनोखा तरीका अपनाया है मंदसौर यातायात पुलिस टीम ने
मंदसौर यातायात थाने के प्रभारी शैलेंद्र सिंह चौहान ने बताया कि इस कार्रवाई का संचालन रोज़ाना 3 घंटे तक किया जाएगा. इसके माध्यम से यातायात नियमों के पालन को मजबूती से जागरूक किया जाएगा और लोगों को सड़क सुरक्षा की महत्वपूर्णता का आदर्श दिखाया जाएगा. मंदसौर के सीएसपी सतनाम सिंह ने बताया कि यह निबंध लिखने का प्रयास लोगों को आर्थिक दंड देने की बजाय उन्हें नियमों का पालन करने के लिए प्रेरित करने के लिए किया जा रहा है. निबंध में हेलमेट के महत्वपूर्ण आस्थाएँ भी उजागर की जाएंगी और साथ ही लोगों के सामूहिकता को बढ़ावा देने के लिए उन्हें चाय नाश्ता करवाया जा रहा है.
आने वाले समय में यह देखा जा सकेगा कि यातायात पुलिस की इस कार्रवाई का शहर के सड़कों पर कितना प्रभाव होता है और लोगों के यातायात नियमों का पालन करने में सहायक साबित हो पाता है.

Print Friendly, PDF & Email

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!